Budget में घोषणा! बढ़ेगी सब्सिडी..घटेगा GST, सरकार ने सुनाया यह फैसला ?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी बजट 1 फरवरी 2024 को पेश किया जाएगा और इससे इलेक्ट्रिक व्हीकल निर्माताओं को काफी उम्मीदें हैं। फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग इलेक्ट्रिक (FAME) सब्सिडी योजना के विस्तार की उम्मीद के साथ, ईवी निर्माताएं जीएसटी में कटौती की भी अपेक्षा कर रही हैं।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें Join Now

Telegram चैनल ज्वाइन करें Join Now

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किए जाने वाले केंद्रीय बजट में ईवी सेगमेंट के लिए आए बदलावों से ईवी निर्माताएं खुश हैं। इस समय को एक नए युग के लिए महत्वपूर्ण मानते हुए, ये उम्मीद जता रही हैं कि बजट से निकलने वाले सुधारों से इस सेगमेंट को मिलने वाले समर्थन की मेजबानी होगी। ईवी निर्माताएं उम्मीद कर रही हैं कि बजट से इस सेगमेंट को और भी तेजी से बढ़ावा मिलेगा, जिससे स्वदेशी ईवी उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा और उद्योग में नई ऊर्जा की दिशा में बदलाव आ सकता है।

Budget ev new update

सुस्त गति से आगे बढ़ने की मांग: कॉमर्शियल ईवी वाहनों को सब्सिडी की आवश्यकता

लोहिया ऑटो के सीईओ, आयुष लोहिया के अनुसार, सरकार को अब उद्योग में पारदर्शिता और समान अवसर सुनिश्चित करने के लिए इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) भागों पर व्यापक नीति बनाने का समय आ गया है। उनका मानना ​​है कि ईवी सब्सिडी में कॉमर्शियल वाहनों को शामिल करना एक महत्वपूर्ण कदम होगा जो व्यापक विकास को बढ़ावा देगा और सस्टेनेबल डेवलपमेंट की दिशा में प्रेरित करेगा।

इस विचार के साथ-साथ, आयुष लोहिया ने आगे बढ़ते हुए ईवी उद्योग में और वृद्धि के लिए ऑटो और ईवी पार्ट पर जीएसटी में कमी की आवश्यकता की है। इससे उद्यमियों को नए योजनाओं में निवेश करने का साहस मिलेगा और विशेषकर कॉमर्शियल वाहन सेगमेंट में नई तकनीक की विकसित हो सकती है, जो बाजार में वृद्धि को बढ़ावा देगी।

इस योजना के तहत सब्सिडी के माध्यम से कॉमर्शियल ईवी वाहनों को समर्थन प्रदान करना सिर्फ विकासी और सुस्त गति से आगे बढ़ने का माध्यम नहीं होगा, बल्कि यह आने वाली पीढ़ियों के लिए एक सस्ता और साफ विकल्प भी प्रदान करेगा।

ईवी क्षेत्र में नई ऊर्जा की ऊंचाई: निवेश के साथ बढ़ती उम्मीदें

हीरो इलेक्ट्रिक के संस्थापक और एमडी, नवीन मुंजाल ने आने वाले केंद्रीय बजट से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर उम्मीदें जताई हैं। उनके अनुसार, जीएसटी दरों में कटौती, FAME II सब्सिडी के विस्तार, और चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर पर निवेश की संभावना से ईवी सेगमेंट को एक नया ऊर्जा दृष्टिकोण मिल सकता है।

जीएसटी दरों में कटौती से उम्मीद है कि ईवी उत्पादों की मूल्य स्थिरता में सुधार होगा और उनकी पहुंच आम लोगों के लिए और भी सुलभ होगी। इसके साथ ही, FAME II सब्सिडी में वृद्धि से ईवी सेगमेंट को और भी आकर्षक बना सकता है, जिससे लोग उदार बदलते विकल्पों की ओर आकर्षित हो सकते हैं।

निवेश के माध्यम से चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास होने से ईवी वाहनों की चार्जिंग सुविधा में सुधार हो सकता है और लोग इन वाहनों का उपयोग करने में आत्मनिर्भर हो सकते हैं। इससे नए उद्योग और रोजगार की उम्मीदें बढ़ सकती हैं और साथ ही, नए ऊर्जा स्रोतों की ओर एक कदम बढ़ सकता है।

बैटरी पर जीएसटी में कटौती: ईवी सेगमेंट को नई ऊर्जा

इलेक्ट्रिक (Electric) के सह-संस्थापक और सीईओ, अविनाश शर्मा, ने बैटरी पर जीएसटी दर को 18% से घटाकर 5% करने की उम्मीद जताई है। इसका मुख्य उद्देश्य ईवी सेगमेंट को बढ़ती ऊर्जा और प्रदूषण के मुकाबले एक सुचारू विकल्प में बदलने का है।

बैटरी पर जीएसटी में कटौती से उम्मीद है कि ईवी सेगमेंट में उद्योग और उपयोगकर्ताओं के लिए बैटरी तकनीक के विकसित होने का मौका मिलेगा। यह स्थानीय उत्पादन को बढ़ावा देगा और लोगों को सुलभ दामों में ईवी स्विच करने के लिए प्रेरित करेगा।

इस उपाय से बैटरी प्रौद्योगिकी में नए अनुसंधान और विकास के लिए नए क्षेत्रों में निवेश की संभावना है। इससे नए उत्पादों और तकनीकों का परिचय हो सकता है जो बाजार में विकसित होने वाले हैं और इस सेगमेंट को एक नए स्तर पर ले जा सकते हैं।

Terra Motors Corporation: सकारात्मक उम्मीदें बजट से, ईवी सेक्टर को बढ़ते निर्देश

टेरा मोटर्स कॉर्पोरेशन (Terra Motors Corporation) ने आगामी बजट के संबंध में सकारात्मक उम्मीदें जताई हैं और उम्मीद की है कि सरकार ईवी इकोसिस्टम का समर्थन करना जारी रखेगी। कंपनी का कहना ​​है कि ईवी सेक्टर की ग्रोथ के लिए सुदृढ़ नीतियों, सब्सिडी, और इंफ्रास्ट्रक्चर विकास के माध्यम से निरंतर सरकारी समर्थन की आवश्यकता है।

टेरा मोटर्स का मानना ​​है कि प्रोडक्शन-लिंक्ड इंसेंटिव (पीएलआई) स्कीम जैसी पिछली सरकारी पहलें ने इंडस्ट्री को महत्वपूर्ण बूस्ट प्रदान किया है, और उन्हें आशा है कि ऐसा ही समर्थन आगे भी जारी रहेगा।

यह उम्मीदें साझा करती हैं कि बजट में सरकार इस सेक्टर के विकास के लिए और नए निर्देश प्रदान करेगी ताकि ईवी सेगमेंट में निवेश और उद्यमिता में वृद्धि हो सके और इसे सुस्त और स्वस्थ दिशा में बढ़ावा मिल सके।

🔥Instagram Account👉 यहाँ क्लिक करे
🔥Home Page 👉 यहाँ क्लिक करे

Rahul hails from Patna, Bihar, and is a highly driven individual with a background in Computer Science Engineering. He is a passionate blogger, known for his profound enthusiasm for automobiles, particularly electric vehicles (EVs). As the founder of the blog "Ecovahan," Rahul shares his knowledge and insights on the world of sustainable transportation and cutting-edge automotive technology. Contact [email protected]

Leave a Comment

Join Whatsapp