पीएलआई योजना क्या है और इससे क्या फायदा होगा | PLI Scheme in Hindi 2023

Table of Contents

जानें, क्या है पीएलआई योजना, PLI Scheme in Hindi, PLI Yojana Kya Hai, और किन क्षेत्रों में बढ़ेंगे रोजगार के अवसर, पीएलआई योजना के क्या फायदा होगा, PLI Scheme Full Form, PLI Scheme automobile Hindi, benefits, Requirements, Apply online, Implementation, registration process

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें Join Now

Telegram चैनल ज्वाइन करें Join Now


PLI Automobile Scheme: भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए और देश मे मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए, नरेंद्र मोदी सरकार ने छठी गवर्निंग काउंसिल में हुई बैठक के दौरान एक नई योजना पीएलआई स्कीम की घोषणा की है। देश को आत्मनिर्भर बनाने का मतलब है स्वदेशी को अपनाना या यूं बोले तो आयात को कम करना और अपने देश में उत्पादन को बढ़ाया जाना।

आपको बता दें कि हाल ही में हुई छठी गवर्निंग काउंसिल बैठक को कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों को संबिधित करते हए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए, और भारत को एक इंडस्ट्री ग्लोबल हब बनाने के लिए अलग अलग सेक्टर्स के लिए पीएलआई स्कीम योजना (PLI Schemes) की शुरुआत की है। इसका पूरा नाम (PLI Full Form) प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम (PLI Scheme) बताया गया है।

इस बैठक के दौरान पीएलआई स्कीम योजना को देश में और बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्रियों को भी ये कहा कि वो अपने अपने राज्यों में इस पीएलआई स्कीम के तहत ज्यादा से ज्यादा लाभ देकर निवेशकों को आकर्षित करें। उन्होंने ये भी कहा कि भारत को यदि आत्मनिर्भर बनाना है तो यह हम सब की जिम्मेदारी होनी चाहिए।

भारत देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए यदि हम सब मिलकर सतत प्रयास करते रहें तो हमें कामयाबी जरूर मिलेगी। आइए इस पोस्ट में हम सब जानते हैं की पीएलआई स्कीम क्या है और पीएलआई योजना देश को आत्मनिर्भर बनाने में कैसे सहायक बन रहा है। इस PLI Scheme के तहत क्या फायदा मिलेगा।


क्या है पीएलआई स्कीम | What is PLI Scheme in Hindi

वैसे पीएम मोदी सरकार द्वारा कई सारे योजनाएं  चलाएं जा रहे हैं, लेकिन यह पीएलआई योजना मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री को देश में बढ़ावा देने के लिए शुरुआत की गई है। इसके तहत प्रोडक्शन करने वाली कंपनियों को लगभग 1.46 लाख करोड़ रुपए का इंसेंटिव सरकार द्वारा दिया जाएगा। पीएलआई स्कीम से देशभर में मैन्यूफैक्चरिंग को बढ़ावा मिलेगा, जिसकी वजह से प्रदेश में भी रोजगार के नए अवसर प्राप्त होंगे। आप पढ़ रहे हैं उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना (PLI Scheme) क्या है और इससे क्या फायदा होगा |

PLI Scheme Full Form
PLI Scheme in Hindi

पीएलआई योजना क्या है (What is PLI Scheme)

केंद्र सरकार ने मार्च 2020 में एक PLI Scheme (प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम) की शुरुआत की है। यह स्वदेशी मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने और आयात बिलों में कटौती करने बनाई गई योजना है। PLI Scheme का मुख्य उद्देश्य है घरेलू इकाइयों में निर्मित उत्पादों की बिक्री में वृद्धि पर कंपनियों को प्रोत्साहन देना। इस योजना के तहत अपनी खुद की यूनिट लगाने और एक्सपोर्ट करने के लिए विशेष रियायत दिया जाएगा। इसके साथ-साथ उस कंपनी को वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाएगी।

यह भी पढ़ें: इलेक्ट्रिक व्हीकल्स खरीदने के टैक्स बेनिफिट्स

आपको बता दें कि देश में पीएलआई स्कीम के लिए 13 क्षेत्रों का चुनाव किया गया है। मोदीजी ने घोषणा किया है कि इस PLI Scheme के तहत आने वाले 5 साल के अंदर अगर कोई कंपनी एस्टेब्लिश करती हैं तो प्रोडक्शन करने वाली कंपनियों को 1.46 लाख करोड़ रुपये तक का इंसेंटिव दिया जाएगा। यह ऑफर विदेशी कंपनियों के लिए भी हैं। पीएलआई योजना के तहत कंपनियों को कैश इंसेंटिव प्राप्त होगा।

पीएलआई योजना (PLI Scheme) के तहत कई सारे उभरते सेक्टर्स को जोड़ा गया है, इनमें से कुछ की लिस्ट नीचे दी गयी है।

PLI Scheme Benefits Sector list

पीएलआई योजना के तहत उभरते सेक्टर्स

  • ऑटोमोबाइल उत्पाद
  • नेटवर्किंग उत्पाद
  • खाद्य प्रसंस्करण
  • उन्नत रसायन विज्ञान
  • टेलिकॉम सेक्टर
  • फार्मा सेक्टर
  • सोलर पीवी निर्माण

PLI स्कीम का फुल फॉर्म क्या है (PLI scheme full form)

प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम की शुरुआत मार्च 2020 में हुई थी। यह योजना भारत में मोबाइल, टेलीकॉम, आईटी हार्डवेयर, फार्मास्यूटिकल जैसे विभिन्न विनिर्माण क्षेत्रों में बेहतर उत्पादन और निर्यात के लिए प्रोत्साहन इंसेंटिव दिया करती है।

भारत सरकार द्वारा निर्मित इस PLI स्कीम का फुल फॉर्म हैप्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम

PLI Scheme Full Form – Production Linked Incentive Scheme

आपको ये भी पता होना चाहिए कि मोदी सरकार द्वारा चलाई गई यह योजना पीएलआई स्कीम मात्र अभी आने वालों 5 साल के लिए ही वैलिड है। यदि अपने ही देश मे समान की मैन्युफैक्चरिंग होगी तो देश में रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। इसलिए पीएलआई स्कीम के तहत ज्यादातर विदेशी कंपनियों को भारत में फैक्ट्री लगाने के के लिए प्रलोभन दिया जा रहा है। इसके साथ-साथ घरेलू कंपनियों को भी प्लांट लगाने में इस पीएलआई स्कीम के तहत काफी लाभ मिलेगा। यही कारण है कि केंद्र सरकार पीएलआई स्कीम पर खूब जोर दे रही है।

यह भी पढ़ें: आयकर अधिनियम की Section 80EEB क्या है


पीएलआई स्कीम रोजगार बढ़ाने में कैसे होगी सहायक?

मैन्युफैक्चरिंग और रोजगार को सहायक बनाने के लिए ही पीएलआई स्कीम और उससे जुड़ी योजनाओं के लिए करीब 2 लाख करोड़ रुपए का प्रावधान बनाया गया है। इसके साथ पूरे प्रोडक्शन का औसतन 5 प्रतिशत इंसेंटिव उस मैन्युफैक्चरर कंपनी को अलग से दिया जाएगा।

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि सिर्फ पीएलआई स्कीम की सहायता से आगामी 5 सालों में लगभग 520 बिलियन डॉलर का प्रोडक्शन भारत में होने सकता है। इसके साथ ही जिस भी सेक्टर में पीएलआई योजना (PLI Scheme)  का गठन किया गया है, उन सबमें लेबर बढ़ेंगे और यह एक तरह से रोजगार के अवसर भी देगी। रोजगार निर्माण में बहुत बड़ा असर पीएलआई योजना का होने वाला है।

इसके अलावा मैनुफैक्चरिंग इंडस्ट्री को तो प्रोडक्शन और एक्सपोर्ट में जो लाभ मिलेगी वो तो अलग से हैं, देश में आय बढ़ने से जो डिमांड बढ़ेगी, उसका भी लाभ अलग होगा, यानि यूँ बोले तो हमें दोगुना फायदा मिलने वाला है। इस पीएलआई योजना का एक व्यापक असर देश की MSME सेक्टर पर होने वाला है।

दरअसल इस पीएलआई स्कीम के तहत मैन्युफैक्चरिंग कंपनी एस्टेब्लिश होने से हर सेक्टर में जो सहायक यूनिट बनेंगे, उनको पूरी वैल्यू चेन में नए सप्लायर बेस की जरूरत भी बखूबी पड़ेगी। और ये जो सहायक यूनिट होंगे, ज्यादातर MSME सेक्टर में ही बनेंगी। अर्थात MSME को ऐसे ही अवसरों के लिए तैयार करने का काम पहले ही शुरू किया जा चुका है।

अब आइये जानते हैं आखिर पीएलआई योजना का उद्देश्य क्या है और यह हमारे लिए किस प्रकार से सहायक है।

यह भी पढ़ें: Electric Scooter Insurance In India


पीएलआई योजना का उद्देश्य (Objective Of PLI Modi Scheme)

दरअसल पीएलआई योजना शुरू करने का मुख्य उद्देश्य भारत को आत्मनिर्भर भारत बनाना है। यह  उत्‍पादन, निर्यात और रोजगार भी बढ़ाएगा। इसके कई उद्देश्य और भी है जो नीचे लिस्ट किए गए हैं।

  • घरेलू विनिर्माण (Domestic Manufacturing) को  बढ़ावा देना।
  • योजना के तहत अलग अलग उत्पादक क्षेत्रो को भारत सरकार द्वारा धनराशि उपलब्ध करायी जाएगी। यह उनके व्यवसायी और प्रोडक्शन क्षमता को बेहतर बनाने में मदद करेगा।
  • विभिन्न देशी-विदेशी कंपनियों के आने से रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे
  • विदेशी कंपनियां भी देश में उत्पाद करने के लिए प्रोत्साहित होगी और अपना प्लांट एस्टेब्लिश करेगी।
  • स्कीम के तहत देश में निर्यात भी बढ़ेगा और आयात में कमी होगी, मतलब साफ है यह हमारे देश की इकोनॉमी पर सीधा प्रभाव डालेगा |    
  •   भारत को आत्मनिर्भर बनाना मुख्य उद्देश्य है।

आइये हम सब जानते हैं इस पीएलआई योजना (PLI Scheme) में कौन कौन से सेक्टर का चुनाव किया गया है और इसके लिए कितने धनराशि की फंडिंग की गई है।

यह भी पढ़ें: इलेक्ट्रिक व्हीकल शेयर प्राइस


पीएलआई स्कीम में शामिल सेक्टर (Sectors Included in PLI Scheme)

आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा पेश की गई इस योजना के अंतर्गत 10 अलग अलग सेक्टर को शामिल किया गया है, जिससे आगे चलकर देश के इकॉनमी को बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी। इन सेक्टर्स की लिस्ट नीचे दी जा रही है

  • इलेक्ट्रॉनिक एंड टेक्नोलॉजी प्रोडक्ट
  • ऑटोमोबाइल और ऑटो कॉम्पोनेंट्स
  • टेलीकॉम एंड नेटवर्किंग प्रोडक्ट
  • टेक्सटाइल उत्पाद
  • फार्मास्यूटिकल ड्रग्स उत्पाद
  • फूड प्रोडक्ट्स
  • सोलर फोटोवॉल्टिक सेक्टर
  • एडवांस केमिस्ट्री सेल बैटरी
  • आईटी हार्डवेयर प्रोडक्ट्स एंड सेल्स
  • ह्वाइट गुड्स इंडस्ट्री
pli scheme chart
credit: ingressgc.com

दरअसल, पीएलआई योजना में शामिल उपरोक्त सारे सेक्टर्स के लिए क्या बजट तैयार किया गया है। इन सेक्टर्स के नाम और बजट इस प्रकार है-

No.सेक्टर्स का नाममंत्रालय/ विभागबजट (करोड़ में)
1एडवांस केमिस्ट्री सेल (एसीसी) बैटरीनीति आयोग एवं भारी उद्योग विभाग18100
2इलेक्ट्रॉनिक/प्रौद्योगिकी उत्पादइलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय5000
3ऑटोमोबाइल एवं ऑटो घटकभारी उद्योग विभाग57042
4फार्मास्यूटिकल्स ड्रग्सफार्मास्यूटिकल्स विभाग15000
5दूरसंचार एवं नेटवर्किंग उत्पाददूरसंचार विभाग12195
6वस्त्र उत्पाद :  एमएमएफ विभाग और टेक्निकल टेक्सटाइलवस्त्र मंत्रालय10683
7खाद्य उत्पादखाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय10900
8उच्च दक्षता सौर पीवी मॉड्यूलनवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय4500
9व्हाइट गुड्स (एसी और एलईडी)उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग6238
10विशिष्ट स्टीलइस्पात मंत्रालय6322
chart src: Jagran Josh

आइये हम अब जानते हैं पीएलआई स्कीम से क्या होगा फायदा (Benefits Of PLI Scheme in India) के बारे में। आप पढ़ रहे हैं Production Linked Incentive Scheme के बारे में डिटेल हिंदी जानकारी

यह भी पढ़ें: क्या है FAME-II सब्सिडी और कैसे मिलेगा फायदा


पीएलआई स्कीम से क्या होगा फायदा (Benefits Of PLI Scheme in India)

पीएलआई स्कीम से कई सारे एक से बढ़कर एक फायदे हैं, आइये एक नज़र PLI Scheme Benefits के ऊपर डालते हैं

  • PLI योजना भारतीय निर्माताओं को वैश्विक रूप से प्रतिस्पर्धी बनाएगी। यह मुख्यतः योग्यता और अत्याधुनिक तकनीक वाले क्षेत्रों में निवेश के लिए आकर्षित करेगी।
  • इस स्कीम के माध्यम से भारत को एशिया का वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला का एक अभिन्न हिस्सा बनाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से अपने देश मे रोजगार के नये अवसर उत्पन्न होंगे और यह बेरोजगारी दर में कमी लाएगा
  • औद्योगिक वस्तुओं के उत्पादन और निर्यात में वृद्धि होने से भारतीय उद्योग को विदेशी प्रतिस्पर्धा का अवसर मिलेगा।
  • विनिर्माण क्षेत्र को बढ़ावा मिलने से और विनिर्माण इकोसिस्टम के निर्माण से देश में एमएसएमई क्षेत्र के साथ बैकवर्ड लिंकेज भी स्थापित होंगे।

क्षेत्रवार उत्पाद श्रेणी इस प्रकार है:

No. सेक्टर्स का नाम उत्पाद श्रेणी
1.एडवांस केमिस्ट्री सेल(एसीसी)
बैटरीविनिर्माण
एसीसी बैटरी
2.इलेक्ट्रॉनिक/प्रौद्योगकी उत्पाद सेमीकन्डक्टर फैबडिस्प्ले
फैवलैपटॉप/ नोटबुकसर्वरआईओटी
उपकरणनिर्दिष्ट कंप्यूटर हार्डवेयर
3.ऑटोमोबाइल और ऑटो घटक ऑटोमोबाइल एवं ऑटो घटक
4.फार्मास्यूटिकल्स1. बायोफार्मास्यूटिकल्सजटिल जेनेरिक दवाएं
पेटेंट दवाएं या पेटेंट समाप्ति होने वाली दवाएं
सेल आधारित या जीन थेरेपी उत्पादऑर्फन
दवाएं विशेष खाली कैप्सूलकॉम्प्लेक्स
एक्सिपिएंट श्रेणी 

2. सक्रिय फार्मा सामग्री (एपीआई) मुख्य
शुरुआती सामग्री (केएसएम) और / ड्रग
इंटरमीडियरी (डीआई)श्रेणी

3.     i. रीपर्पस्ड ड्रग्स
ii. ऑटोड्रग्स इम्यून-, एंटीड्रग्स कैंसर-, 
एंटी डायबिटिकड्रग्स, एंटी इंफेक्टिव
ड्रग्स, कार्डियोवस्कुलर ड्रग्स, 
साइकोट्रोपिक ड्रग्स
और एंटी रेट्रोवायरल ड्रग्स
iii. इन-विट्रो डायग्रोस्टिक उपकरण
iv. फाइटोफार्मास्यूटिकल्स 
v. अन्य दवाएं जिनका निर्माण भारत में
नहीं किया जाता है।
vi. अनुमोदित अन्य दवाएं
5.दूरसंचार उत्पाद i. कोर ट्रांसमिशन उपकरण
ii. 4जी/5 जी, नेक्स्ट जेनरेशन रेडियो
एक्सेस नेटवर्क और वायरलेस उपकरण

iii एक्सेस एंड कस्टमर प्रेमिसेज उपकरण,
इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी एक्सेस)
और अन्य वायरलेस उपकरण
iv.  एंटरप्राइज़ उपकरण: स्विच, राउट
6.वस्त्र i. मानव निर्मित फाइबर श्रेणी
ii. तकनीकी वस्त्र
7.खाद्य प्रसंस्करण i.  रेडी टू ईट / रेडी टू कुक
(आरटीई आरटीसी)
ii. समुद्री उत्पाद
iii. फल एवं सब्जियां
iv. शहद
v. देसी घी,
vi. मोत्ज़ारेला चीज
vii. ऑर्गेनिक अंडे और पोल्ट्री मांस
8.सौर पीवी विनिर्माण सौर पीवी
9.व्हाइट गुड्स i.  एयर कंडीशनर
ii.  एलईडी
स्टील उत्पाद i. कोटेड स्टील
ii. हाई स्ट्रेंथ स्टील
iii. स्टील रेल
iv. एलॉए स्टील बार एवं रॉड
Source: PIB (Jagran Josh)

आइये हम अब जानते हैं Production Linked Incentive Scheme कैसे काम करती है, पीएलआई योजना के क्या क्रियान्वयन हैं (PLI Scheme Implementation) – पूरी जानकारी डिटेल में।

यह भी पढ़ें: EV Yatra Portal क्या है और कैसे करें डाउनलोड, क्या होंगे फायदे 


Production Linked Incentive Scheme कैसे काम करती है?

आपको बता दें कि पीएलआई योजना यानी प्रोडक्शन लिंक्ड इन्सेन्टिव स्कीम को अलग अलग विनिर्माण क्षेत्रों के लिए शुरू किया जा चुका है। यह कैसे काम करेगी इसकी जानकारी नीचे दी गयी है –

Production Linked Incentive Scheme for Mobiles Manufacturing

पीएलआई योजना के अंतर्गत भारत को मोबाइल हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर निर्माण में वैश्विक हब बनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। वर्ष 2020 में इस योजना को लागू किया गया। जो भी कम्पनियाँ भारत में उत्पादन करके सामानों का निर्यात करने में सबसे अच्छा प्रदर्शन दिखाएंगी, केंद्र सरकार की तरफ से उन्हें इंसेंटिव दिया जाएगा।

PLI Scheme for Telecom Equipment Manufacturing Department

17 फरवरी 2021 को पीएलआई योजना टेलीकॉम और नेटवर्किंग से जुड़े सामान बनाने वाले ब्रांड्स के लिए भी शुरू किया जा चुका है। इस सेक्टर के तहत 12195 करोड़ रूपए का बजट केन्द्रीय कैबिनेट ने तैयार किया है। इसके अलावा इस सेक्टर में 3 हजार करोड़ रुँपये का लगभग निवेश होने की सम्भावना भी जताई जा रही है। इससे लोगों को रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे।

PLI Scheme for IT- Hardware Manufacturing

पीएलआई योजना के अंतर्गत 24 फरवरी 2021 को कानून और न्याय मंत्री श्री रवि शंकर प्रसाद ने IT हार्डवेयर्स और सर्वर्स बनाने वाली कंपनियों के लिए Production Linked Incentive Scheme – IT की शुरुआत की। इस सेक्टर के लिए 7,350 करोड़ रुपये का बजट पेश किया गया है।

धनराशि के रूप में टेबलेट्स पर 3 हजार करोड़ और लैपटॉप पर 30 हजार करोड़ रुपये की प्रतिवर्ष होने वाली खफत पूरी होगी। इसके अलावा ये भी माना जा रहा है कि लगभग 2 लाख लोगों को सीधे तौर पर रोजगार भी प्राप्त होगा।

PLI Scheme for Pharmaceutical industry

पीएलआई योजना के अंतर्गत दवाइयों के उत्पादन में भी भारत को आत्मनिर्भर और निर्यातक बनाने का भरपूर प्रयास किया गया है।  PLI Scheme को ड्रग्स और फार्म कंपनियों के लिए भी शुरू किया जा चुका है। PLI Scheme for Pharmaceutical industry के अंतर्गत 15 हजार करोड़ रुपये इंसेंटिव का प्रावधान भी किया गया है।

यह भी पढ़ें: सिंथेटिक ई-ईंधन क्या है


आइये अब हम जानते हैं इस योजना का लाभ उठाने के लिए पीएलआई योजना हेतु रजिस्ट्रेशन कैसे करें- PLI Scheme Online Registration Process Hin. आप पढ़ रहे हैं PLI Scheme Kya Hai हिंदी में जानकारी

पीएलआई योजना हेतु रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया (PLI Scheme Registration Process)

आपको बता दें कि पीएलआई स्कीम के लाभ उठाने हेतु हमें पीएलआई योजना रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया से गुजरना होगा। यदि आपके इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन (PLI Scheme Registration) करना चाहते है, तो फिलहाल आपको कुछ समय का और इंतेज़ार करना पड़ सकता है।

पीएलआई योजना को पूर्णतया पर देश मे लागू होने के लिए थोड़ा समय और लग सकता है। इसके साथ ही PLI Scheme Registration Process के लिए फिलहाल कोई ऑफिशियल वेबसाइट लांच नहीं की गयी हैं। केंद्र सरकार द्वारा इस प्रोत्साहन योजना का जैसे ही आवेदन शुरू होगा, हम अपने पोस्ट के माध्यम से आपको सूचित कर देंगे।

ज्यादा जानकारी के लिए यहां विजिट करेंPLI Official Site Link


यह भी पढ़ें:


Frequently Asked Questions (FAQs)

Q1. पीएलआई योजना से क्या फायदा होगा?

Ans:- पीएलआई स्कीम से कई सारे एक से बढ़कर एक फायदे हैं, PLI योजना भारतीय निर्माताओं को वैश्विक रूप से प्रतिस्पर्धी बनाएगी। यह मुख्यतः योग्यता और अत्याधुनिक तकनीक वाले क्षेत्रों में निवेश के लिए आकर्षित करेगी।

Q2. पीएलआई उत्पादन योजना क्या है?

Ans: केंद्र सरकार ने मार्च 2020 में एक PLI Scheme (प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम) की शुरुआत की है। यह स्वदेशी मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने और आयात बिलों में कटौती करने बनाई गई योजना है।

Q3. PLI scheme full form क्या है?

Ans:- भारत सरकार द्वारा निर्मित इस PLI स्कीम का फुल फॉर्म है – प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम, PLI Scheme Full Form – Production Linked Incentive Scheme.

Q4. पीएलआई स्कीम रोजगार बढ़ाने में सहायक कैसे है?

Ans:– मैन्युफैक्चरिंग और रोजगार को सहायक बनाने के लिए ही पीएलआई स्कीम और उससे जुड़ी योजनाओं के लिए करीब 2 लाख करोड़ रुपए का प्रावधान बनाया गया है। इसके साथ पूरे प्रोडक्शन का औसतन 5 प्रतिशत इंसेंटिव उस मैन्युफैक्चरर कंपनी को अलग से दिया जाएगा।

Q5. पीएलआई योजना का उद्देश्य क्या है?

Ans:- पीएलआई योजना शुरू करने का मुख्य उद्देश्य भारत को आत्मनिर्भर भारत बनाना है। घरेलू विनिर्माण (Domestic Manufacturing) को  बढ़ावा देना। योजना के तहत अलग अलग उत्पादक क्षेत्रो को भारत सरकार द्वारा धनराशि उपलब्ध करायी जाएगी।

Q6. PLI Scheme Registration Process क्या है?

Ans: पीएलआई स्कीम के लाभ उठाने हेतु हमें पीएलआई योजना रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया से गुजरना होगा। यदि आपके इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन (PLI Scheme Registration) करना चाहते है, तो फिलहाल आपको कुछ समय का और इंतेज़ार करना पड़ सकता है। PLI Scheme Registration Process के लिए फिलहाल कोई ऑफिशियल वेबसाइट लांच नहीं की गयी हैं।


निष्कर्ष (Conclusion)

अब तो आपको साफ तौर पर मालूम चल गया होगा कि PLI Scheme Kya Hai और यह हमारे लिए कैसे और क्यों जरूरी है। अतः पूरा निष्कर्ष यह निकलता है कि PLI योजना से वैश्विक भागीदारों से बड़े निवेश आकर्षित होंगे और घरेलू कंपनियों को उभरते अवसरों का फायदा उठाने और निर्यात बाजार में बड़े व्यापारी बनने में भी काफी मदद मिलने की उम्मीद है।

आशा करता हूँ आप सभी पाठकों को हमारा यह पोस्ट पीएलआई योजना क्या है और इससे क्या फायदा होगा | PLI Scheme in Hindi 2023 काफी हद तक पसंद आया होगा। इसके माध्यम से हमने टॉपिक से जुड़ी सटीक जानकारी आप सभी तक पहुँचाने का प्रयास किया है।

यदि इस पोस्ट में किसी भी प्रकार का कोई त्रुटि हो तो आप हमसे संपर्क जरूर करें। इसके अलावा आप अपनी राय और सुझाव भी हमें कमेंट करके दे सकते हैं।

धन्यवाद:)

🔥Instagram Account👉 यहाँ क्लिक करे
🔥Home Page 👉 यहाँ क्लिक करे

संकल्प करें, इलेक्ट्रिक चुनें

Rahul hails from Patna, Bihar, and is a highly driven individual with a background in Computer Science Engineering. He is a passionate blogger, known for his profound enthusiasm for automobiles, particularly electric vehicles (EVs). As the founder of the blog "Ecovahan," Rahul shares his knowledge and insights on the world of sustainable transportation and cutting-edge automotive technology. Contact [email protected]

1 thought on “पीएलआई योजना क्या है और इससे क्या फायदा होगा | PLI Scheme in Hindi 2023”

  1. Nice article regarding pli scheme. A detail and full information compiled in this article. Really a helping information. Thanx….

    Reply

Leave a Comment

Join Whatsapp